India

पीएम शादी शगुन योजना: आपकी बेटी को सरकार दे रही है 51 हजार रुपये,जानिये जानकारी

Spread the love

जीशान अशरफी जामई | लल्लनपोस्ट डॉट कॉम

प्रधान मंत्री मोदी के नेतृत्व में देश की केंद्र सरकार द्वारा लड़कियों की सुरक्षा, पोषण और शिक्षा आदि के लिए कई योजनाएं लागू की गई हैं, हमारे देश की अल्पसंख्यक आबादी में सबसे बड़ी आबादी मुस्लिम समुदाय की है। अल्पसंख्यक समुदाय विशेषकर मुस्लिम समुदाय में उच्च शिक्षा की स्थिति निराशाजनक है।


इसे देखते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय के तहत काम करने वाली संस्था मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन ने अल्पसंख्यक तबकों और खासकर मुस्लिम लड़कियों की उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शादी शगुन योजना का प्रस्ताव सरकार के सामने रखा था. इस प्रस्ताव को केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय द्वारा मंज़ूर किये जाने के बाद प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी शुरुआत की थी. मौलाना आज़ाद एजुकेशन फाउंडेशन पीएम शादी शगून योजना 2023 की निगरानी कर रही है। इसलिए इस योजना के तहत पंजीकरण करने के लिए, आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाने की ज़रूरत है।

इस योजना का फायदा केवल उन अल्पसंख्यक और मुस्लिम लड़कियों को मिलेगा जिन्होंने स्नातक की पढ़ाई पूरी कर ली है। शादी शगुन योजना भारत के सभी राज्यों में लागू की गई है। स्नातक स्तर की परीक्षा छोड़ने वाली लड़कियां शादी शगुन योजना के लिए पात्र नहीं होंगी।
मौलाना आज़ाद फाउंडेशन द्वारा दी जाने वाली बेगम हजरत महल छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाली छात्रा भी पीएम शादी शगुन योजना 2023 के लिए पात्र हैं।

पीएम शादी शगुन योजना का लाभ उन मुस्लिम लड़कियों को दिया जाएगा जिन्होंने स्कूल स्तर पर मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन से छात्रवृत्ति प्राप्त की है. और जिन्होंने ग्रेजुएशन पूरा कर लिया है।

पीएम शादी शगुन योजना में मुस्लिमों के अलावा सिख, ईसाई, पारसी और जैन धर्म के लोगों को भी लाभ मिल सकता है.इन सभी वर्ग की लड़कियों को 51 हजार रुपये की आर्थिक सहायता उपहार के रूप में दी जाएगी. इसके अलावा अब 10वीं कक्षा पास करने वाली अल्पसंख्यक लड़कियों को 10000 रुपये उपहार के तौर पर दिए जाएंगे।शादी शगुन योजना का लाभ पाने के लिए लड़की का मान्यता प्राप्त कॉलेज से स्नातक होना जरूरी है।पीएम शादी शगुन योजना के लिए लड़की को भारतीय नागरिक होना ज़रूरी है।

शादी शगुन योजना का उद्देश्य


इस योजना के तहत शादी से पहले स्नातक की पढ़ाई पूरी करने वाली मुस्लिम लड़कियों को उनकी शादी पर मोदी सरकार द्वारा शगुन के रूप में 51,000 रुपये दिए जाएंगे।
यह योजना मुस्लिम समुदाय की लड़कियों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।
इतना ही नहीं, पीएम शादी शगुन योजना के तहत लड़कियों को 9वीं और 10वीं पास करने के बाद मोदी सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

शादी शगुन योजना के लिए पात्रता

इस योजना का लाभ केवल उन्हीं मुस्लिम लड़कियों को मिलेगा जिन्होंने स्कूल स्तर पर बेगम हजरत महल राष्ट्रीय छात्रवृत्ति प्राप्त की हो और स्नातक की पढ़ाई पूरी की हो।इस योजना का लाभ लेने के लिए लड़की का मुस्लिम होना जरूरी है।

और मुस्लिम लड़की ने शादी से पहले किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी की हो।मुस्लिम लड़की को भारत का नागरिक होना जरूरी है।


शादी शगुन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?


मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन शादी शगुन योजना आवेदन की पूरी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए योजना का वेब पोर्टल बनाने का काम कर रहा है इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा उपलब्ध कराना संभव है।
हालांकि, अभी यह तय नहीं हुआ है कि इस योजना के लिए आवेदन ऑफलाइन करना है या ऑनलाइन।आवेदन की जानकारी योजना लागू होने के बाद ही उपलब्ध होगी।

(लेखक जामिया मिल्लिया इस्लामिया के स्कॉलर हैं)

Related Posts

आखिर कौन हैं कोडिंग मास्टर मुस्कान अग्रवाल? जिन्हें मिला है 60 लाख रूपये सालाना की जॉब का प्रस्ताव।

मुस्कान अग्रवाल भारत की सबसे शानदार महिला कोडर हैं। उनको  लिंक्डइन से सालाना 60

1 of 14

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *