India

पश्चिम बंगाल की रहने वाली तकदीरा बेगम को कला के क्षेत्र में मिला पद्मश्री अवार्ड।

Spread the love

नई दिल्ली: बंगाल की रहने वाली तकदीरा बेगम (Takdira Begum Padma Shri 2024) इस साल पद्मश्री से सम्मानित होने वाली एकमात्र मुस्लिम महिला हैं। 2024 के पद्म पुरस्कार विजेताओं की सूची में पश्चिम बंगाल से विभिन्न क्षेत्रों में सात लोगों का नाम शामिल है। सात में से तीन को पद्म भूषण और शेष चार को पद्म श्री से सम्मानित किया गया है।

बोलपुर के जंबुनी के मद्रासपल्ली की रहने वाली तकदीरा करीब 30 साल से कांथा सिलाई का काम कर रही हैं। स्कूल में पढ़ाई के दौरान उन्होंने सिलाई सीखी। सिलाई अब उनकी आजीविका और शौक है। तकदीरा के शब्दों में, ”मैं शांत नहीं बैठ सकती। मुझे काम करना पसंद है. केंद्र मुझे जो इनाम दे रहा है उसकी मैं शुक्रगुज़ार हूं।

उनके परिवार में उनके पति और तीन बेटियां हैं। परिवार के सभी सदस्य कांथा सिलाई उद्योग से जुड़े हैं। क्षेत्र की महिलाएं उनकी कलात्मक कढ़ाई से प्रेरित हैं। तकदीरा ने अपनी कला साधना के अलावा अन्य महिलाओं को भी यह काम सिखाया। 1996 में, उन्हें कांथा सिलाई उद्योग के प्रचार और विकास के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला। 2009 में, उन्हें शिल्पगुरु सम्मान प्राप्त हुआ। अब उन्हें यह सम्मान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलेगा.

तकदीरा (Takdira Begum) ने कहा, “केंद्रीय कुटीर उद्योग मंत्रालय ने फोन करके मुझे बताया कि मेरा नाम पद्म श्री प्राप्तकर्ताओं की सूची में है। मुझे यह सुनकर बहुत ख़ुशी हुई।” तकदीरा ने यह भी कहा, “मैं उन सभी लोगों से कहूंगा जो समाज में पिछड़े हैं, आत्मनिर्भर बनें।”

Founder of Lallanpost.Com

Related Posts

आखिर कौन हैं कोडिंग मास्टर मुस्कान अग्रवाल? जिन्हें मिला है 60 लाख रूपये सालाना की जॉब का प्रस्ताव।

मुस्कान अग्रवाल भारत की सबसे शानदार महिला कोडर हैं। उनको  लिंक्डइन से सालाना 60

1 of 14

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *